fbpx
  Previous   Next
HomeNationNDA की बैठक में चाचा-भतीजा के बीच खत्म हुई दूरियां? चिराग ने...

NDA की बैठक में चाचा-भतीजा के बीच खत्म हुई दूरियां? चिराग ने छुए चाचा पशुपति पारस के पैर तो चाचा ने लगा लिया गले.

साल 2021 में लोक जनशक्ति पार्टी दो हिस्सों में टूट गई थी. इसका एक धड़ा 'राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी' उनके भाई पशुपति कुमार पारस के साथ है, जबकि दूसरा धड़ा उनके बेटे चिराग पासवान के पास है. चिराग पासवान अपने धड़े में अकेले सांसद रह गए और चिराग एनडीए से अलग हो गए थे.

आगामी 2024 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए देश की राजनीति में मंगलवार का दिन बहुत अहम रहा. बेंगलुरु में विपक्षी दलों की बैठक हुई, जिसमें गठबंधन का नाम तय हुई. दूसरी ओर दिल्ली में बीजेपी के सहयोगी दलों यानी एनडीए की बैठक हुई. इस बैठक में रिश्तों के बीच दूरियां भी कम होती दिखीं. बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की मीटिंग में एनडीए के अन्य दलों के साथ लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख चिराग पासवान और राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के चीफ पशुपति पारस शामिल हुए. बैठक के दौरान सांसद चिराग पासवान ने अपने चाचा और केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस के पैर छुए. इस पर पशुपति पारस ने भतीजे चिराग पासवान को गले लगाते हुए उन्हें आर्शीवाद दिया. चिराग पासवान ने पीएम मोदी के भी पैर छुए. इसपर पीएम ने उन्हें गला लगाया. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है.

11111


चिराग पासवान ने पैरे ऐसे समय छुए हैं जब दोनों नेता हाजीपुर लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ने को लेकर अपने-अपने दावे कर रहे हैं. चिराग पासवान ने दिल्ली में कहा कि वह हाजीपुर से चुनाव लड़ेंगे. इस समय पशुपति पारस यहां से लोकसभा सांसद है. चिराग पासवान पर पलटवार करते हुए पशुपति पारस ने भी इस सीट पर अपना दावा किया.

lok janshakti party ram vilas leader chirag paswan pti 2

पशुपति पारस मेरे पिता समान-चिराग पासवान
न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, अपने चाचा के साथ सुलह की संभावना के बारे में पूछे जाने पर चिराग पासवान ने कहा कि पशुपति पारस उनके लिए पिता की तरह हैं, लेकिन उन्होंने फिर पारस की टिप्पणियों का उल्लेख करते हुए कहा कि इससे मुझे दुख हुआ. वहीं, पशुपति पारस ने कहा कि चुनाव से इतने पहले सीट बंटवारे के मामले पर चर्चा नहीं की जाती. उन्होंने दावा किया कि दिवंगत रामविलास पासवान ने उन्हें अपना राजनीतिक उत्तराधिकारी चुनते हुए हाजीपुर सीट पर चुनाव लड़ने के लिए कहा था. पशुपति पारस इससे पहले साफ कर चुके हैं कि दोनों पार्टियों का विलय नहीं होगा.

chirag 1 1623653250 1623691766

2021 में एलजेपी में हुई थी टूट
बता दें कि राम विलास पासवान के निधन के बाद साल 2021 में लोक जनशक्ति पार्टी दो हिस्सों में टूट गई थी. इसका एक धड़ा ‘राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी’ उनके भाई पशुपति कुमार पारस के साथ है, जबकि दूसरा धड़ा उनके बेटे चिराग पासवान के पास है. चिराग पासवान अपने धड़े में अकेले सांसद रह गए और चिराग एनडीए से अलग हो गए थे. लेकिन पिछले कुछ महीनों में एनडीए से उनकी नजदीकियां बढ़ी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

More News

सिंगापुर के बाद हांगकांग ने भी MDH और Everest मसालों पर लगाया बैन, भारत की सरकार अब जागी है और करेगी सैंपलों की टेस्टिंग.

सिंगापुर के बाद हांगकांग ने भारतीय कंपनियों MDH प्राइवेट लिमिटेड और Everest फूड प्रोडक्ट्स लिमिटेड के करी मसालों की सेल पर बैन लगा दिया...

कब्ज की समस्या से है परेशान तो आज से ही खाना शुरू करें ये ड्राई फ्रुट, कब्ज की समस्या हो जाएगी छूमंतर

ड्राई फूड्स का सेवन सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है बस इसके खाने का समय और तरीका भर सही होना चाहिए. अखरोट...

ऑस्ट्रेलियाई पूर्व दिग्गज ने ‘थाला’ को लेकर क्यों कह दी ये बड़ी बात कि “यह एकदम समझ से परे है कि…”,

आईपीएल में एमएस धोनी की बैटिंग को देखर हर कौई हैरान है, आईपीएल में एमएस धोनी ने लखनऊ के खिलाफ 9 गेंदों में नाबाद...

RELATED NEWS

आयुष्मान योजना के तहत ‘बुजुर्गों’ के अच्छे दिन आ सकता है, बुजुर्गों’ को 5 लाख तक का फ्री इलाज !

देश के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के नागरिकों को आयुष्मान योजना के तहत सरकार लाभार्थियों को ₹5,00,000 तक निःशुल्क स्वास्थ्य बीमा प्रदान की...

बिहार में 10 दिन बाद चुनाव लेकिन ‘INDIA’ को नहीं मिल रहे उम्मीदवार? अभी तक सभी सीटों के लिए नहीं हुआ नामों का ऐलान...

लोकसभा चुनाव को लेकर बिहार में सियासी सरगर्मियां बढ़ी हुई है. पहले चरण के मतदान वाले क्षेत्रों में सभी दल चुनाव प्रचार में युद्द...

‘सन ऑफ मल्लाह’ मुकेश सहनी ‘INDIA’ गठबंधन में शामिल, RJD ने VIP को अपने कोटे से दीं ये 3 सीटें

देश में जैसे- जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रही है वैसे सभी राजनीतिक पार्टियां अपना कुनबा मजबूत करने में कोई कसर नहीं छोडना चाहती...