fbpx
  Previous   Next
HomeNationसिक्किम में तबाही की चेतावनी के बाद भी 40 मौत के पीछे...

सिक्किम में तबाही की चेतावनी के बाद भी 40 मौत के पीछे कौन जिम्मेदार ? कहां हो गई चूक?

सिक्किम में ग्लेशियल लेक आउटबर्स्ट से जिस तरह से भारतीय सेना के साथ-साथ आम नागरिक इसकी चपेट में आये, उससे साफ है कि उन्हें इस खतरे का कोई अंदेशा नहीं था.

सिक्किम में आये भयंकर प्राकृतिक आपदा से निपटने की चुनौती दिनों दिन बड़ी हो रही है. त्रासदी के 72 घंटे बाद भी सेना के जवान और आम लोग लापता हैं. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या आपदा प्रभावित इलाकों में अर्ली वॉर्निंग सिस्टम काम नहीं कर रहा था ? क्या सेना के यूनिट को इस आपदा की संभावना की चेतावनी दी गयी थी? सिक्किम में ग्लेशियल लेक आउटबर्स्ट के बाद बड़ी बाढ़ त्रासदी को लेकर कई बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं. जिस तरह से भारतीय सेना के साथ-साथ आम नागरिक इसकी चपेट में आये, उससे साफ है कि उन्हें इस खतरे का कोई अंदेशा नहीं था. तीस्ता नदी के जलस्तर में अप्रत्याशित बढ़ोतरी को लेकर कोई चेतावनी उन्हें नहीं दी गई थी.

Capture

इस साल 29 मार्च को संसद में पेश अपनी रिपोर्ट में जल संसाधन मामलों पर संसद की स्थायी समिति ने आगाह किया था. समिति ने कहा था कि सिक्किम में कुल छोटे-बड़े 694 ग्लेशियल लेक्स यानी हिमनद झील हैं. लेकिन आपदा के दृष्टिकोण से संवेदनशील इस राज्य में केवल 8 बाढ़ पूर्वानुमान स्टेशन सेटअप किये गए हैं. हिमालय-कराकोरम क्षेत्र वैश्विक औसत की तुलना में 0.5 डिग्री सेंटीग्रेड तेज गति से गर्म हो रहा है. इससे ग्लेशियरों के पिघलने की रफ़्तार बढ़ने से आपदाओं की संख्या में बढ़ोतरी होगी. इससे 10 साल पहले ISRO और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस के वैज्ञानिकों ने एक रिसर्च पेपर में सिक्किम में साउथ ल्होनक लेक के फटने का खतरा जताया था.

sikkim flash floods 05233611 16x9 1

अर्ली वार्निंग सिस्टम रिकमेंड किया गया था
अमृता विश्व विद्यापीठम की असिस्टेंट प्रोफेसर एस एन रम्या ने NDTV से कहा, “2019 में मैंने 2013 की अपनी रिसर्च को फॉलो किया था. 2000 से 2015 तक लेक की लंबाई आधा किलोमीटर बढ़ गई थी. जो गहराई है, वो औसतन 50 मीटर तक हो गयी है. सिक्किम में जो लेक फटा है, उसके बारे में हमने प्रेडिक्ट किया था. हमने कहा था कि इसकी वजह से 19 मिलियन क्यूबिक मीटर तक पानी रिलीज़ हो सकता है. हमने कहा था कि ये लेक खतरे में हैं. हमने अर्ली वार्निंग सिस्टम रिकमेंड किया था.”

ukhand .1.956333

सीएम ने पिछली सरकार पर लगाए आरोप
अब सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने वैज्ञानिकों की इस रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए शुक्रवार को कहा, “पिछली सरकार ने इस रिपोर्ट पर गंभीरता से कार्रवाई नहीं की, रिपोर्ट पिछली सरकार को दी गई है, लेकिन उन्होंने इसपर पहल नहीं की. अब इस हादसे के बाद हमारी टेक्निकल कमिटी इस हादसे की जांच करेगी. फिलहाल इन सवालों के बीच आपदा का खतरा अभी सिक्किम पर अभी टला नहीं है. मौसम विभाग के डायरेक्टर जनरल डॉ. एम मोहपात्रा ने कहा, “ग्लेशियर लेक आउटबर्स्ट के इंपैक्ट की मॉनिटरिंग और प्रेडिक्शन करना ज़रूरी है. हमें मौसम की बेहतर मॉनिटरिंग करनी होगी”.

Men and machines of the Army clearing boulders from the road

बहरहाल, सिक्किम में भयंकर त्रासदी एक बड़ी चेतावनी है. इस बार अगर सीख नहीं ली गई और ग्लेशियल लेक्स की मॉनिटरिंग नहीं बढ़ाई गई, तो त्रासदी का दायरा भविष्य में और बड़ा हो सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

More News

कब्ज की समस्या से है परेशान तो आज से ही खाना शुरू करें ये ड्राई फ्रुट, कब्ज की समस्या हो जाएगी छूमंतर

ड्राई फूड्स का सेवन सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है बस इसके खाने का समय और तरीका भर सही होना चाहिए. अखरोट...

ऑस्ट्रेलियाई पूर्व दिग्गज ने ‘थाला’ को लेकर क्यों कह दी ये बड़ी बात कि “यह एकदम समझ से परे है कि…”,

आईपीएल में एमएस धोनी की बैटिंग को देखर हर कौई हैरान है, आईपीएल में एमएस धोनी ने लखनऊ के खिलाफ 9 गेंदों में नाबाद...

गजबे अंदाज में दिखी सिंघम अगेन का नया पोस्टर में दीपिका पादुकोण, रोहित शेट्टी बोले- मेरी हीरो !

रोहित शेट्टी की सिंघम फ्रेंचाइजी की अपकमिंग फिल्म सिंघम अगेन का नया पोस्टर रिलीज हुआ है. रोहित शेट्टी इस बार कॉप यूनिवर्स में ऐसा...

RELATED NEWS

सलमान खान से मुलाकात के बाद किसने ली लॉरेंस बिश्नोई को खत्म करने की कसम !

महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मंगलवार को अभिनेता सलमान खान के घर पहुंचकर उनसे मुलाकात की. हाल ही में मुंबई के बांद्रा स्थित...

सलमान खान के घर के बाहर हुए हमले को लेकर किसने कहा कि ” यह तो ट्रेलर था.. ताकत को समझ जाओ “….

सलमान खान के घर गैलेक्सी अपार्टमेंट के ठीक बाहर रविवार सुबह 5 बजे फायरिंग की गई. दो बाइक से आए हमलावरों ने 4 राउंड...

आयुष्मान योजना के तहत ‘बुजुर्गों’ के अच्छे दिन आ सकता है, बुजुर्गों’ को 5 लाख तक का फ्री इलाज !

देश के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के नागरिकों को आयुष्मान योजना के तहत सरकार लाभार्थियों को ₹5,00,000 तक निःशुल्क स्वास्थ्य बीमा प्रदान की...