fbpx
  Previous   Next
HomePoliticsविपक्षी गठबंधन का नाम 'INDIA' क्यों रखा गया? जानें क्या है इसके...

विपक्षी गठबंधन का नाम ‘INDIA’ क्यों रखा गया? जानें क्या है इसके सियासी मायने?

विपक्ष ने अपने गठबंधन का नाम 'INDIA' ही रखने का मन क्यों बनाया है? इसके पीछे विपक्ष की क्या सियासत है?

बेंगलुरु में चल रही विपक्षी दलों की बैठक से एक बड़ी खबर सामने आई है, विपक्षी दलों ने अपने नए गठबंधन का नाम ‘INDIA’ रखा है. इंडिया का पूरा नाम होगा- इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इंक्लूसिव अलायंस। बैठक में शामिल विपक्षी दलों के कई नेताओं ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. खैर, इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल यही है कि आखिर विपक्ष ने अपने गठबंधन का नाम इंडिया ही रखने का मन क्या बनाया है? इसके पीछे विपक्ष की क्या सियासत है?
गठबंधन के नाम की चर्चा कैसे शुरू हुई?

full


विपक्षी दलों की बैठक बेंगलुरु में हुई। नाम पर चर्चा के बाद एक-एक करके दलों के नेताओं और पार्टियों के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्विट किए जाने लगे। लालू प्रसाद यादव की पार्टी आरजेडी ने लिखा, ‘विपक्षी दलों का गठबंधन भारत का प्रतिबिंब है!’
I – Indian
N – National
D – Developmental
I – Inclusive
A – Alliance

1221

विपक्ष ने गठबंधन के नाम के लिए इंडिया ही क्यों चुना?
राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो ‘नाम की सियासत इन दिनों हावी है। खासतौर पर अंग्रेजी के शब्दों का अलग-अलग मतलब निकालने का भी हो गया है। भाजपा इस काम में आगे थी. भाजपा ने विपक्ष से जुड़ी तमाम पार्टियों के नामों का जिक्र करके उसका अलग मतलब निकाला। ये चर्चा में भी रहा. यही कारण है कि इस बार विपक्ष ने इस मामले में बड़ा दांव खेल दिया है’ इंडिया नाम रखने से विपक्ष को सबसे बड़ा फायदा यही होगा कि भाजपा उसका मजाक या तंज नहीं कस पाएगी. देश के नाम पर गठबंधन का नाम पड़ने से भाजपा के लिए ये बड़ी चुनौती होगी. भाजपा खुद को राष्ट्रवादी पार्टी कहती है। ऐसे में अगर इंडिया के नाम का कोई गलत मतलब भाजपा की तरफ से निकाला जाता है तो जनता के बीच इसका संदेश भी काफी गलत जाएगा.

opposition meet leaders1687449384310

राजनीति के जानकार इसे विपक्षी दलों के द्वारा काफी सोच-विचार कर लिया गया फैसला बताया है. ऐसा होने से अब गठबंधन के नाम पर भाजपा और एनडीए के नेताओं की तरफ से हमले नहीं होंगे। हां, व्यक्तिगत तौर पर जरूर भाजपा व एनडीए में शामिल अन्य दलों के नेता विपक्ष पर हमलावर हो सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

More News

गर्मी में डायबिटीज पेशेंट ऐसे रखें ख्याल, हीटवेव शुगर लेवल बिगाड़ सकती हैं

देश में भीषण गर्मी धीरे धीरे जोर पकड़ रही है, इसलिए सेहत का खास ख्याल रखना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है. बहुत ज्यादा गर्मी...

धनुष ने अपनी आने वाली फिल्म ‘कुबेरा’ का पोस्टर किया शेयर, फैन्स बोले – साउथ का एक और धमाका होने वाला है.

तमिल सुपरस्टार धनुष ने अपने इंस्टाग्राम पर अपनी आनेवाली फिल्म 'कुबेर' का पोस्टर शेयर किया है. पोस्टर में एक्टर को अस्त-व्यस्त और बिखरे हुए...

सलमान खान से मुलाकात के बाद किसने ली लॉरेंस बिश्नोई को खत्म करने की कसम !

महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मंगलवार को अभिनेता सलमान खान के घर पहुंचकर उनसे मुलाकात की. हाल ही में मुंबई के बांद्रा स्थित...

RELATED NEWS

‘सन ऑफ मल्लाह’ मुकेश सहनी ‘INDIA’ गठबंधन में शामिल, RJD ने VIP को अपने कोटे से दीं ये 3 सीटें

देश में जैसे- जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रही है वैसे सभी राजनीतिक पार्टियां अपना कुनबा मजबूत करने में कोई कसर नहीं छोडना चाहती...

बिहार में NDA के सीट शेयरिंग फॉर्मूले हुआ फाइनल, चिराग, मांझी और कुशवाहा सब खुश, जदयू को मिली इतनी सीटें!

बीजेपी बिहार में 40 में से 17 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. नीतीश कुमार की जेडीयू 16 सीटों और चिराग पासवान की एलजेपी 5 सीटों...

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मोदी का मास्टरस्ट्रोक ! हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाई शरणार्थियों को मिलेगी भारत की नागरिकता.

केंद्र की मोदी सरकार ने लोकसभा चुनाव से ठीक पहले 2019 के इचुनावी घोषणा पत्र में किए गए एक और वादे को आखिरकार धरातल...