fbpx
  Previous   Next
HomeNationमिशन 2024 से पहले बढ़ा NDA का कुनबा, कुमारस्वामी की पार्टी JDS...

मिशन 2024 से पहले बढ़ा NDA का कुनबा, कुमारस्वामी की पार्टी JDS गठबंधन में शामिल

जेडीएस और बीजेपी कभी कर्नाटक में साथ थीं, मगर इस बार हुए विधानसभा चुनाव बीजेपी, जेडीएस और कांग्रेस ने अलग-अलग लड़ा. विधानसभा चुनाव में जेडीएस को बड़ा झटका लगा था. अब एक बार फिर बीजेपी और जेडीएस कर्नाटक में मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं.

मिशन 2024 के तहत अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर एनडीए का कुनबा और बढ़ गया है. शुक्रवार को JDS यानि जनता दल सेक्युलर, BJP के नेतृत्व वाले गठबंधन NDA में शामिल हो गई. दिल्ली में जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की. जिसके बाद गठबंधन का ऐलान किया गया. शाह और कुमारस्वामी के बीच कर्नाटक में सीट शेयरिंग को लेकर भी चर्चा हुई. हालांकि, इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई है. जेडीएस और बीजेपी कभी कर्नाटक में साथ थीं, मगर इस बार हुए विधानसभा चुनाव बीजेपी, जेडीएस और कांग्रेस ने अलग-अलग लड़ा. विधानसभा चुनाव में जेडीएस को बड़ा झटका लगा था. अब एक बार फिर बीजेपी और जेडीएस कर्नाटक में मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं. माना जा रहा है कि इस गठबंधन के बाद कर्नाटक में बीजेपी को बड़ी बढ़त मिल सकती है.

88 1695381459

कैसा रहा है जेडीएस का प्रदर्शन?
साल 2019 के चुनावी आंकड़ों पर नजर डालें तो JDS सिर्फ हासन सीट पर जीत पाई थी. जबकि मांड्या, बेंगलुरु (ग्रामीण) और चिकबल्लापुर सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की थी. हासन से पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के पोते प्रज्वल रेवन्ना ने चुनाव जीता था, लेकिन 1 सितंबर को कर्नाटक हाईकोर्ट ने उनकी सांसदी रद्द कर दी थी. कोर्ट ने कहा था कि उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव में इलेक्शन कमीशन को हलफनामे में गलत जानकारी दी थी. उन्होंने अपनी 24 करोड़ से अधिक की इनकम छिपाई थी. प्रज्वल साल 2019 के लोकसभा चुनाव में जीतने वाले पार्टी के एकमात्र सांसद थे. हासन की सांसदी रद्द होने के बाद अब लोकसभा में JDS के पास कोई सदस्य नहीं है.

pandu3 7dc759b014

गठबंधन से क्या हो सकता है फायदा?
BJP और JDS के साथ आने से दक्षिण भारत के राज्य कर्नाटक में सामाजिक और राजनीतिक समीकरण पूरी तरह से बदल सकते हैं. कर्नाटक की आबादी में करीब 17 फीसदी भागीदारी वाला लिंगायत समुदाय बीजेपी का कोर वोटर माना जाता है. पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा भी लिंगायत समुदाय से ही आते हैं. लिंगायत के बाद करीब 15 फीसदी आबादी वाला वोक्कालिगा समुदाय दूसरा सबसे प्रभावशाली समाज है. वोक्कालिगा परंपरागत रूप से JDS का वोटर माना जाता है. JDS चीफ एचडी देवगौड़ा खुद भी वोक्कालिगा समुदाय से ही आते हैं. दो पार्टियों के साथ आने से राज्य में NDA का वोट बेस करीब 32 फीसदी हो जाएगा. ऐसे में सामाजिक और क्षेत्रीय समीकरणों के लिहाज से कर्नाटक में NDA की जमीन को मजबूती मिल सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

More News

लू से बचाव के लिए और लू ना लगे इसलीए क्या खाना होता है फायदेमंद, जिससे दूर हो जाए सारी परेशानी !

गर्मियों का मौसम अपने साथ कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें लेकर आता है. लू के कारण खराब होने वाली तबीयत हो या फिर...

मुख्यमंत्री योगी के गढ़ गोरखपुर में दो कलाकार के बीच कैसे रोचक हुआ मुकाबला? क्या कहते हैं सीट के समीकरण ?

लोकसभा चुनाव 2024 के तहत देश में अंतिम और 7वें चरण के लिए1जून को मतदान होने जा रहा है. उत्तर प्रदेश में अंतिम चरण...

रियान पराग की खुद की गलती से उनका ब्राउजिंग हिस्ट्री हुआ लीक, हिस्ट्री में एक हिरोइन का नाम देख मचा बवाल !

IPL 2024 में अपने शानदार खेल से सभी को प्रभावित करने वाले खिलाडी राजस्थान के युवा बल्लेबाज रियान पराग एक ऐसी गलती कर बैठे...

RELATED NEWS

मुख्यमंत्री योगी के गढ़ गोरखपुर में दो कलाकार के बीच कैसे रोचक हुआ मुकाबला? क्या कहते हैं सीट के समीकरण ?

लोकसभा चुनाव 2024 के तहत देश में अंतिम और 7वें चरण के लिए1जून को मतदान होने जा रहा है. उत्तर प्रदेश में अंतिम चरण...

श..श…श…क्या कोरोना फिर से कहर बरपाने को है तैयार ? RNA वायरस क्या है ?

देश में अचानक से कोरोना के मामले एक बार फिर से बढने लगे हैं. कोरोना के केस बढने की वजह है नया वेरिएंट KP.1...

चीन का दावा- हेलीकॉप्टर क्रैश में हो सकता है इजराइल का हाथ !! “राष्ट्रपति रईसी समेत 9 लोगों की मौत हो गई”

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी के काफिले का हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया जिसका मलवा सोमवार की सुबह एक पहाड़ी पर मिला है जिसमें राष्ट्रपति...